We are dedicated to spreading awareness about the numerous advantages of Midbrain Activation. Feel free to reach out to us to schedule a complimentary orientation seminar and demo tailored for schools, societies, and communities. Your understanding of Midbrain Activation’s benefits is just a conversation away.

INTRODUCTION

The term ‘Midbrain Activation’ refers to the activation of the midbrain, which is the part of our brain that connects the left and right hemispheres, known as the interbrain or midbrain. While the left brain is commonly used for logical thinking and academic pursuits, the right brain is associated with creativity and intuition.

If the midbrain is activated in children through a combination of meditation and scientific techniques, various cognitive abilities such as memory, concentration, visualization, imagination, creativity, and reading speed can be enhanced. This activation involves engaging children in activities like brain gym exercises, dance, puzzles, games, singing, yoga, and meditation, promoting the balanced use of both sides of the brain.

Read More...

The process involves conducting workshops for about two days, with daily practice sessions lasting around six hours. After approximately two months of practice, children typically experience increased sensory perception, and full activation is achieved within three to four months. Daily home practice for 10 to 15 minutes is recommended to maintain the benefits throughout life.

The benefits of midbrain activation include improved concentration, heightened sensory perception (such as touching or smelling an object with closed eyes), increased reading speed, enhanced self-confidence, creativity development, anger management, improved memory, analytical skills, decision-making abilities, and more.

Overall, midbrain activation is considered a boon for children, transforming their lifestyle positively. The technique is modern and has no known side effects. It is credited with rapidly improving the IQ of children, increasing grasping power, and fostering a range of cognitive and emotional skills. The information about this technique is essential for parents seeking ways to support their child’s development.

हमारे मस्तिष्क के दो भाग होते है, लेफ्ट ब्रेन और राईट ब्रेन । और इन दोनों भागो को जोड़ने वाले हिस्से को कहा जाता है इन्टर ब्रेन या मिड ब्रेन। अधिकतर हम सभी लेफ्ट ब्रेन का उपयोग करते है जबकि राईट ब्रेन बहुत कम उपयोग में आ पाता है। बहुमुखी प्रतिभा का धनी व्यक्ति भी जिंदगी में अपने मस्तिष्क का छोटा सा अंश ही उपयोग करता है, वह भी सिर्फ लेफ्ट ब्रेन का – जोकि तार्किक क्षमता वाला है। सृजन शक्ति से सम्पन्न राईट ब्रेन का उपयोग न के बराबर हो पाता है।

तो मस्तिष्क के दोनों भागो के बीच का सेतु यानि मिड ब्रेन यदि एक्टिव हो जाये तो बच्चा ऑलराउंडर बन जाता है, उसके आई. क्यू. दोनों एक साथ बढ़ते है। लेफ्ट ब्रेन स्कूली पढ़ाई, लॉजिकल सोच और याद करने के लिए काफी आवश्यक है। लेकिन राईट ब्रेन आविष्कारक सूझबूझ और सृजनात्मकता के लिए अनिवार्य है।

ध्यान और विज्ञान के संयोग से से बच्चो के मिडब्रेन को एक्टिव किया जाता है] ब्रेन एक्टिव होने से मैमोरी] कंसेंट्रेशन] विजुलाईजेशन] इमेजिनेशन] क्रिएटिविटी और जल्दी पढ़ने की कला जाग्रत हो जाती है जिससे सभी इन्द्रियाँ एक साथ ऑब्जेक्ट को महसूस कर मस्तिष्क को सूचना देने लगती है।

Read More...

यह पूरी प्रक्रिया वैज्ञानिक प्रणाली पर आधारित है। बच्चो को शांत और विश्रामपूर्ण स्थिति में ले जाकर उन्हें अलग अलग स्टेप जैसे – ब्रेन जिम, डांस, पजल्स, गेम्स, सिंगिंग, योग व् ध्यान क्रियाएं सिखाई जाती है। शरीर के बाएं व् दाएं दोनों तरफ के अंगो से बराबरी से उपयोग करने की प्रैक्टिस करवाई जाती है।

यह वैसे तो 2 दिन की वर्कशॉप में हो जाता है। पहले और दूसरे दिन 6-6 घंटो का अभ्यास कराया जाता है। करीब 2 महीने के अभ्यास में बच्चो की इन्द्रियाँ संवेदनशील होने लगती है और लगभग 3 से 4 महीने में पूरी तरह से एक्टिवेशन हो जाता है। बच्चो को घर पर भी कुछ अभ्यास करने होते है। और फिर 10 से 15 मिनट रोज प्रयोग करते रहने से जिंदगी भर इसका लाभ लिया जा सकता है।

इसके एक्टिवेशन से बच्चो में एकाग्रता की जबरदस्त बढ़ोतरी होती है। जिससे बच्चे आँखे बन्द करके किसी भी वस्तु को छूकर या सूंघकर उसके बारे में सटीक बता देते है] जैसे कि उसे खुली आँखों से देख रहे हो। इस कोर्स को करने के बाद बच्चो की जीवनशैली ही बदल जाती है। यह कोर्स आधुनिक पध्दति पर आधारित है इसका किसी भी तरह का कोई साइड इफैक्ट नही है। इस कोर्स के कई अन्य लाभ है  आई- क्यू- काफी तेजी से बढ़ना] ग्रहण शक्ति में वृद्धि] आत्म विश्वास बढ़ना] क्रिएटिविटी का विकास] गुस्से पर नियंत्रण] स्मरण शक्ति का विकास] विश्लेषण क्षमता तथा निर्णय लेने की क्षमता का विकास एवम और भी बहुत कुछ। यह तकनीक आज बच्चो के लिए एक वरदान बन चुकी है इसकी जानकारी जरूर प्राप्त करें।

BENEFITS

Midbrain activation is associated with improved memory, concentration, and overall cognitive function. Participants often experience enhanced learning abilities, making it easier to grasp and retain information.

The Midbrain Activation Workshop focuses on stimulating the midbrain, leading to improved cognitive functions such as memory, concentration, and problem-solving skills. Participants often experience enhanced learning capabilities and increased mental clarity.

Unlocking the midbrain can unleash creative potential. Participants may find themselves more innovative and imaginative, making connections between ideas more effortlessly and thinking outside the box.

Activation of the midbrain has been linked to increased self-confidence. Participants often experience a boost in self-esteem and a greater belief in their abilities, leading to improved overall personality development.

Activation of the midbrain is thought to amplify intuitive capabilities and stimulate creativity. Participants may find themselves better equipped to think outside the box, solve problems innovatively, and express their creativity in various aspects of life.

The workshop includes relaxation techniques and mindfulness practices, promoting a sense of calm and reducing stress levels. Participants often report an improved ability to manage stress and cope with the challenges of daily life.

Midbrain activation may positively impact emotional well-being by balancing neurotransmitters and promoting a more positive outlook. Participants often experience a heightened sense of happiness, contentment, and emotional resilience.

The workshop focuses on holistic brain development, aiming to optimize overall brain function. This includes improved communication between different brain regions, fostering a more integrated and efficient cognitive system.

The workshop incorporates exercises that enhance concentration and focus, providing participants with tools to better manage distractions and improve their attention span.

Midbrain activation is not limited to specific areas but involves the overall development of the brain. This holistic approach ensures that various cognitive functions work synergistically, contributing to comprehensive brain development.

मिडब्रेन एक्टिवेशन से संबंधित हैं जिससे स्मृति, एकाग्रता, और समग्र ज्ञान क्षमता में सुधार होता है। प्रतिभागी अक्सर बढ़ी हुई सीखने की क्षमताओं का अनुभव करते हैं, जिससे जानकारी को समझना और रखना सरल हो जाता है।

मिडब्रेन एक्टिवेशन वर्कशॉप मिडब्रेन को प्रेरित करने पर केंद्रित है, जिससे स्मृति, एकाग्रता, और समस्या समाधान कौशल में सुधार होता है। प्रतिभागी अक्सर बढ़ी हुई सीखने की क्षमताएं और बढ़ी हुई मानसिक स्पष्टता का अनुभव करते हैं।

मिडब्रेन को खोलना रचनात्मक क्षमता को उत्तेजित कर सकता है। प्रतिभागी को साधारिता से अधिक नवाचारी और कल्पनाशील पाया जा सकता है, जो विचारों के बीच संबंध बनाने में आसानी से मदद कर सकता है और अलग-अलग दिशाओं में विचार करने में सहारा प्रदान कर सकता है।

मिडब्रेन की सक्रियता से बढ़े हुए आत्मविश्वास का संबंध है। प्रतिभागी अक्सर आत्मसमर्पण में बढ़ोतरी और अपनी क्षमताओं में अधिक विश्वास का अनुभव करते हैं, जिससे समग्र व्यक्तित्व विकास होता है।

मिडब्रेन की सक्रियता को आंतरज्ञान की क्षमताओं को बढ़ाने और रचनात्मकता को प्रोत्साहित करने से जोड़ा गया है। प्रतिभागी अक्सर बाक्स के बाहर सोचने, समस्याओं को नवाचारी रूप से हल करने, और अपने जीवन के विभिन्न पहलुओं में रचनात्मकता व्यक्त करने के लिए अधिक सजीव हो सकते हैं।

वर्कशॉप में विश्राम तकनीकों और सतर्कता अभ्यासों को शामिल करने से, शांति का एक भाव बढ़ाया जाता है और तनाव स्तर को कम करने में मदद की जाती है। प्रतिभागी अक्सर सुधारित क्षमता से स्त्रोत करने और दैहिक जीवन के चुनौतियों का सामना करने की बेहतर क्षमता की सूचना देते हैं।

मिडब्रेन एक्टिवेशन भावनात्मक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है, न्यूरोट्रांसमिटर्स को संतुलित करके और एक और सकारात्मक दृष्टिकोण को प्रोत्साहित करके। प्रतिभागी अक्सर बढ़ी हुई खुशी, संतोष, और भावनात्मक सहिष्णुता की ऊँची भावना का अनुभव करते हैं।

वर्कशॉप समृद्धि योग्य मस्तिष्क विकास पर केंद्रित है, सम्ग्र मस्तिष्क कार्य को समृद्धि करने का उद्देश्य रखता है। इसमें विभिन्न मस्तिष्क क्षेत्रों के बीच सुधारित संवाद और एक अधिक समर्थ और एकीकृत ज्ञानी प्रणाली को बढ़ावा देना शामिल है।

वर्कशॉप में एकाग्रता और ध्यान को बढ़ाने के लिए व्यायाम शामिल किए गए हैं, जिससे प्रतिभागियों को विभिन्न प्रतिकूलताओं को बेहतरीन से संभालने और उनके ध्यान को बढ़ाने के लिए उपकरण मिलते हैं।

मिडब्रेन एक्टिवेशन किसी विशिष्ट क्षेत्रों से सीमित नहीं है, बल्कि यह मस्तिष्क के समृद्धि योग्य सम्पूर्ण विकास में शामिल है। यह समृद्धि योग्य दृष्टिकोण सुनिश्चित करता है कि विभिन्न ज्ञान क्षमताएं संयुक्त रूप से काम करें, जो समृद्धि योग्य मस्तिष्क विकास को समृद्धिपूर्ण बनाता है।

HAPPY PARENTS

INSIDE THE WORKSHOP